दमा में उपयोगी श्वास मुद्रा
/ Categories: Health Tips

दमा में उपयोगी श्वास मुद्रा

लाभ :

* यह श्वासकोशों के दोषों का निवारण करती है ।

* दमा (Bronchial asthma) की बीमारी में लाभदायी है ।

* भय, उद्वेग, दुःख, अतृप्ति आदि में भी उपयोगी है ।

विधि : कनिष्ठिका को अँगूठे के मूल में, अनामिका को अँगूठे के बीच में तथा बीच की उँगली को अँगूठे के छोर से स्पर्श करायें । तर्जनी को सीधी रखें । यह ‘श्वास मुद्रा’ या ‘दमा मुद्रा’ कहलाती है । रोज 15-20 मिनट तक इसका अभ्यास कर सकते हैं ।

(साभार : ऋषि प्रसाद, अगस्त 2017)

Print
300 Rate this article:
5.0
Please login or register to post comments.

Popular